Personalized
Horoscope
  • AstroSage Big Horoscope
  • Year Book
  • Raj Yoga Reort
  • Shani Report

शुक्र का मेष राशि में गोचर (10 मई, 2019)

शुक्र ग्रह को दैत्यों का गुरु कहा जाता है। इसका जिक्र हिन्दू धर्मशास्त्र की बहुत सी पौराणिक कथाओं में है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान शिव से शुक्राचार्य ने एक विशेष वरदान प्राप्त किया था जिसके परिणामस्वरुप ही वो पृथ्वी और स्वर्ग दोनों लोकों की संपत्ति के मालिक बन गए थे। लिहाजा शुक्र को ना केवल संपत्ति का बल्कि औषधि एवं मंत्र का भी स्वामी माना जाता है। दूसरी तरफ वैदिक ज्योतिष की मानें तो शुक्र को बेहद लाभदायक ग्रह माना जाता है। इस ग्रह को विशेष रूप से प्रेम, वैवाहिक और सांसारिक सुखों का कारक माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि शुक्र ग्रह के प्रभाव से जातक के वैवाहिक और भौतिक सुखों में वृद्धि होती है।

शुक्र का मेष राशि में गोचर

जहाँ शुक्र ग्रह को वृषभ और तुला राशि का स्वामी माना गया है। तो वहीं मीन इसकी उच्च राशि कहलाती है, जबकि कन्या इसकी नीच राशि होती है। शुक्र को भरणी, पूर्वा फाल्गुनी और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्रों का स्वामित्व प्राप्त होता है। बुध और शनि ग्रह शुक्र के मित्र ग्रह मानें गए हैं और वहीं सूर्य और चंद्रमा इसके शत्रु ग्रह होते हैं। शुक्र का गोचर तक़रीबन 23 दिन की अवधि का होता है अर्थात शुक्र एक राशि में क़रीब 23 दिन तक रहता है।

शुक्र ग्रह का मनुष्य जीवन पर प्रभाव

ये देखा गया है कि बली शुक्र न केवल जातक के वैवाहिक जीवन को सुखी बनाता है। बल्कि यह पति-पत्नी के बीच प्रेम की भावना को भी बढ़ाकर रिश्ते में मधुरता लाता है। प्रेम करने वाले जातकों की बात करें तो शुक्र उनके जीवन में भी रोमांस की वृद्धि करता है। ज्योतिषियों की मानें तो जिस व्यक्ति की कुंडली में शुक्र मजबूत स्थिति में होता है वह व्यक्ति हमेशा अपने जीवन में भौतिक सुखों का आनंद लेता है। तथा बली शुक्र के कारण ही व्यक्ति साहित्य एवं कला में रुचि लेता है। इसके अलावा पीड़ित शुक्र के चलते जातक के वैवाहिक जीवन में कई प्रकार की परेशानियाँ आती हैं। साथ ही पती-पत्नि के बीच मतभेद की स्थिति भी उत्पन्न होती है। कुंडली में शुक्र के कमजोर होने से जातक के जीवन में दरिद्रता आती है और वह भौतिक सुखों के अभाव में जीता है। ये भी देखा गया है कि जिस भी कुंडली में शुक्र कमज़ोर होता है उस व्यक्ति को कई प्रकार के शारीरिक, मानसिक, आर्थिक एवं सामाजिक कष्टों का सामना करना पड़ता है। पीड़ित शुक्र के प्रभाव से बचने के लिए जातकों को छः मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।

पीड़ित शुक्र के महाउपाय- यहाँ क्लिक कर पढ़ें!

शुक्र के मेष राशि में गोचर का समय और तारीख

शुक्र ग्रह को भौतिक सुखों का कारक माना गया है। कुंडली में शुक्र के शुभ प्रभाव से वाहन, घर, महंगे वस्त्र, आभूषण जैसे तमाम सांसारिक सुखों की प्राप्ति होती है। शुक्र को कला, सौंदर्य और वैवाहिक सुख का कारक भी माना गया है, इसलिए ग्लैमर की दुनिया से जुड़े व्यक्तियों पर इसका गहरा प्रभाव होता है। वहीं शुक्र की कृपा से दांपत्य जीवन में मधुरता आती है। अब यही शुक्र ग्रह शुक्रवार, 10 मई, 2019 को सायं 18:57 बजे मेष राशि में गोचर करेंगे और 4 जून, 2019, मंगलवार प्रातः 11:11 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेंगे। ऐसे में आईये अब जानते हैं शुक्र के इस गोचर का सभी 12 राशियों पर क्या प्रभाव होगा?

Click here to read in English…

यह भविष्यफल चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र जानने के लिए क्लिक करें: चंद्र राशि कैल्कुलेटर

मेष राशि

चूँकि शुक्र का गोचर आपकी ही राशि में हो रहा है, लिहाजा ये आपकी राशि में लग्न भाव यानि की पहले भाव में स्थापित होंगें। शुक्र का ये गोचर आपके व्यक्तित्व को आकर्षक बनाने के साथ ही साथ आपकी छवि में भी चार चाँद लगाता है। इस गोचर के परिणामस्वरूप लोग आपकी तरफ आकर्षित होंगें जिससे आप समाज में अपनी एक अलग पहचान बनाने में सफल हो पाएंगे। इसके साथ ही प्रेम संबंध में मधुरता आएगी और अपने पार्टनर के साथ आप ख़ुशनुमा पल व्यतीत कर पाएंगे। जहाँ तक विवाहित जातकों का सवाल है तो, आपको शुक्र के इस गोचर के दौरान जीवनसाथी का भरपूर साथ प्राप्त होगा। इस दौरान आपको कार्यक्षेत्र में तरक़्क़ी देखने को मिल सकती है, पदोन्नति की संभावना भी इस गोचर के दौरान बन सकती है। मेष राशि वालों के लिए शुक्र का ये गोचर विशेष फलदायी सिद्ध होगा।

उपायः विशेष लाभ प्राप्ति के लिए शुक्रवार के दिन महालक्ष्मी जी को शृंगार भेंट करें।

वृषभ राशि

शुक्र के इस गोचर के दौरान, ये आपकी राशि से बारहवें भाव में विराजमान होंगें। शुक्र का ये गोचर आपके लिए शारीरिक समस्याएं उत्पन्न कर सकता है। हालाँकि इस दौरान आपका ज्यादातर समय भौतिक सुख साधनों का आनंद लेते हुए बीत सकता है। आर्थिक रूप से देखें तो इस दौरान आपके ख़र्चों में अनायास ही वृद्धि हो सकती है। कोर्ट कचहरी के मामलों में धन खर्च होने की ज्यादा संभावना है। इस गोचर के दौरान आपका किसी विदेश यात्रा पर भी जाना हो सकता है या फिर आपको काम के सिलसिले में किसी लंबी यात्रा पर जाना पड़ सकता है। शुक्र के इस गोचर के दौरान आपको विशेष सलाह दी जाती है की अपने जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और साथ ही साथ अपने फ़िजूल ख़र्चों पर भी नियंत्रण बनाकर रखें। वृषभ राशि वालों के लिए ये गोचर निम्न फलदायी साबित होगा।

उपायः गाय की सेवा करें और उन्हें आटा खिलाएँ।


अरंड मूल से बनाए शुक्र को बली-यहाँ क्लिक कर पढ़ें

मिथुन राशि

शुक्र का ये गोचर आपकी राशि से ग्यारहवें भाव में होगा। इसीलिए आपके लिए शुक्र का ये गोचर आर्थिक रूप से काफी लाभदायक साबित होने वाला है। शुक्र के प्रभाव से आपकी आय में वृद्धि होने की संभावना बन सकती है। इसके साथ ही साथ इस दौरान आपको कार्यक्षेत्र में भी तरक्की पाने के विभिन्न अवसर प्राप्त होंगें। इस गोचर काल में आपको किसी विदेशी स्रोत या महिला मित्र से विशेष लाभ मिलने की उम्मीद है। मिथुन राशि के फिल्म अभिनेताओं और फ़िल्मी कलाकारों के लिए गोचर की ये अवधि विशेष फलदायी साबित होने वाली है। इस दौरान मिथुन राशि के जातक अपने बच्चों के साथ विशेष वक़्त गुज़ार सकते हैं। यदि आप प्यार में हैं तो इस गोचर काल के दौरान आपको आपने पार्टनर का साथ प्राप्त होगा। साथ ही सामाजिक कार्यों में भी आपकी सक्रियता बढ़ेगी। गोचर का ये समय आपके जीवनसाथी के लिए विशेष रूप से लाभदायक साबित हो सकता है। मिथुन राशि के जातकों के लिए ये गोचर मध्यम फलदायी साबित होगा।

उपायः माथे पर श्वेत चंदन का तिलक लगाएँ।

कर्क राशि

इस गोचर के दौरान शुक्र आपकी राशि से दसवें भाव में स्थापित होंगें। शुक्र ग्रह के प्रभाव से आप अपने कार्यक्षेत्र में ख़ासा तरक्की प्राप्त करने में सफल हो सकते हैं। कार्यक्षेत्र में आपका बेहतर प्रदर्शन आपको नयी ऊँचाइयों पर ले जा सकता है। गोचर के इस अवधि काल में कोई ख़ास व्यक्ति आपके जीवनशैली और काम करने के ढंग से ख़ासा प्रभावित हो सकता है। कर्क राशि के पुरुष जातकों के लिए इस गोचर काल में किसी महिला मित्र का साथ विशेष लाभकारी सिद्ध हो सकता है। इस दौरान आपका पारिवारिक जीवन सामान्य रहेगा और अपने करीबियों के साथ आप अच्छा वक़्त व्यतीत कर पाएंगे। शुक्र के इस गोचर काल में आपको वाहन सुख की प्राप्ति हो सकती है।

उपायः शुक्रवार के दिन दही के साथ भगवान शिव का रुद्राभिषेक करें।


एस्ट्रोसेज कुंडली ऐप में बड़े बदलाव- जानिए खासियत

सिंह राशि

इस गोचर के दौरान शुक्र ग्रह आपकी राशि से नौवें भाव में स्थित होंगें। इस गोचर काल के दौरान आप अपने कार्यक्षेत्र में बदलाव कर सकते हैं। इस दौरान आपको किसी लंबी दूरी की यात्रा पर जाने का अवसर प्राप्त हो सकता है। इस गोचर काल में पारिवारिक स्तर पर देखें तो, आपको अपने भाई बहन से कोई विशेष लाभ मिल सकता है। इसके साथ ही साथ आपको आर्थिक रूप से भी परिवार का भरपूर साथ प्राप्त होगा। गोचर की इस अवधि में आपको जीवनसाथी का भरपूर साथ मिलेगा और साथ ही सामाजिक स्तर पर भी आपके मान सम्मान में वृद्धि होगी। आपका भाग्य शुक्र के इस गोचर के दौरान आपका पूरा साथ देगा और आपकी किस्मत इस दौरान सोने की तरह चमकेगी। आर्थिक रूप से इस दौरान आपको ख़ासा आमदनी हो सकती है। सिंह राशि वालों के लिए ये गोचर मिले-जुले परिणाम लाने वाला है।

उपायः शुक्रवार के दिन छोटी कन्याओं को खीर खिलाना आपके लिए लाभदायक होगा।

कन्या राशि

अपने इस गोचर के दौरान शुक्र आपकी राशि से आठवें भाव में विराजमान होंगें। आपकी राशि में शुक्र की ये स्थिति आपके लिए धन हानि का कारण बना सकती है, लिहाजा इस गोचर काल में पैसों का खर्च सोच समझकर करें। गोचर की ये अवधि आपके पिता के स्वास्थ्य में गिरावट ला सकती है। इसके साथ ही इस दौरान आपको अपनी सेहत को लेकर भी विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता पड़ सकती है। इस दौरान खासतौर से बाहर के खान पान से परहेज करें और जितना हो सकें स्वस्थ्य भोजन ही ग्रहण करें। शुक्र का ये गोचर आपके लिए करियर से जुड़ी कोई ऐसी खुशख़बरी दे सकता है, जिसकी आपने कल्पना भी नहीं की होगी। कन्या राशि के जातकों के लिए ये गोचर कुछ ख़ास लाभकारी नहीं सिद्ध होगा।

उपायः गाय की सेवा करें, लाभ होगा।

तुला राशि

शुक्र का गोचर आपकी राशि से सातवें भाव में होगा। शुक्र का ये गोचर आपके जीवन में प्रेम का नया अध्याय खोल सकता है। आपकी मुलाकात किसी ऐसे व्यक्ति से हो सकती है जिसे देखते ही आपको पहली नजर में प्यार हो जाए। यदि आप विवाहित हैं तो, इस दौरान जीवनसाथी का साथ आपके लिए बेहद लाभदायक साबित होगा। हालाँकि आप दोनों के बीच इस दौरान किसी छोटी बात को लेकर मतभेद भी हो सकता है। इस गोचर काल में फ़ुरसत के वक़्त को किसी ऐसे काम में लगाएँ जिससे भविष्य में आपको लाभ प्राप्त हो सके। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से देखें तो गोचर की ये अवधि आपके लिए विशेष फलदायी साबित होगा। आप ऊर्जा से भरपूर रहेंगे जिसका लाभ आपको कार्यक्षेत्र में भी मिलेगा। लिहाजा तुला राशि वालों के लिए ये गोचर ख़ासा फलदायी साबित होने वाला है।

उपायः विशेष लाभ के लिए गाय को हरा चारा खिलाएँ।

वृश्चिक राशि

इस गोचर के दौरान शुक्र आपकी राशि से छठे भाव में विराजमान होंगें। शुक्र के इस गोचर के फलस्वरूप आपको अपने वैवाहिक जीवन में विशेष रूप से कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। लिहाजा जीवनसाथी के साथ वाद -विवाद या मतभेद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। गोचर काल की ये अवधि स्वास्थ्य के लिहाज से आपके लिए ख़ासा नुक़सानदेह साबित हो सकती है। ऐसे में बेहतर होगा कि इस दौरान आप अपनी सेहत का ख़ास ख्याल रखें। इस दौरान अचानक किसी यात्रा पर जानें का प्रोग्राम बनने से आपके ख़र्चों में वृद्धि हो सकती है। इस अवधि में महिला मित्रों के साथ अच्छे संबंध बनाकर रखें और उनका सम्मान करें। क्योंकि संभव है कि किसी महिला की वजह से आपको मुसीबतों का सामना करना पड़ें, लिहाजा उनसे मधुर संबंध बनाकर चलें। विवाहित जोड़ों को उनके जीवनसाथी की सेहत में गिरावट देखने को मिल सकती है। इस दौरान उनके साथ किसी भी प्रकार के मतभेद की स्थिति ना उत्पन्न होने दें। शुक्र का ये गोचर आपके कार्यक्षेत्र में आपको मनमाफ़िक तरक्की दिला सकता है। वृश्चिक राशि वालों के लिए ये गोचर मिला जुला परिणाम लाने वाला है।

उपायः किसी देवी के मंदिर में शुक्रवार के दिन चावल दान करें।

धनु राशि

शुक्र अपने इस गोचर के दौरान आपकी राशि के पांचवें भाव में स्थापित होंगें। शुक्र के गोचर की ये अवधि आपके लिए प्रेम जीवन के आधार पर बेहद अच्छी साबित होने वाला है। वैसे संभावना है कि इस दौरान आपके पार्टनर के साथ किसी बात को लेकर आपकी झड़प हो। दूसरी तरफ इस गोचर काल के दौरान आपके आय के साधनों में वृद्धि होगी और आपको अपने मेहनत के अनुसार फल भी मिलेगा। यदि आप लॉटरी में किस्मत आज़माना चाहते हैं तो आपके लिए ये समय बेहद लाभदायक साबित हो सकता है। सिंगल लोग किसी नए रिश्ते की तरफ आकर्षित हो सकते हैं। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए ये समय अनुकूल साबित होगा। धनु राशि के जातकों के लिए शुक्र का ये गोचर विशेष फलदायी साबित होगा।

उपायः शुक्रवार के दिन देवी को श्वेत पुष्प चढ़ाने से आपको लाभ प्राप्त हो सकता है।

मकर राशि

इस गोचर के दौरान शुक्र आपकी राशि से चौथे भाव में स्थान परिवर्तन करने वाले हैं। शुक्र के शुभ प्रभाव से इस दौरान आपको आंतरिक सुख की अनुभूति हो सकती है, लेकिन दूसरी तरफ इसके विपरीत प्रभाव से किसी क्षेत्र में असंतोष का भाव भी पैदा हो सकता है। परिवार में ख़ुशियों का माहौल रहेगा और परिवार के सदस्यों के बीच समांजस्य की स्थिति बनेगी। शुक्र के प्रभाव से प्रेम जीवन में आप अपने पार्टनर के साथ ज्यादा से ज्यादा समय गुजार पाएंगे। इसके साथ ही साथ आप अपने कार्यक्षेत्र में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकेंगे। गोचर की इस अवधि में आप नया घर या गाड़ी खरीद सकते हैं। मकर राशि के जातकों के लिए ये गोचर ख़ासा फलदायी साबित होगा।

उपायः भगवान गणेश जी की आराधना करें और उन्हें ध्रुव एवं मोदक चढ़ाएँ।

घर में स्थापित करें शुक्र यंत्र- यहाँ क्लिक कर पढ़ें

कुंभ राशि

शुक्र के गोचर के दौरान ये आपकी राशि से तीसरे भाव में विराजमान होंगें। शुक्र के गोचर काल के दौरान आपको किसी छोटी यात्रा पर जाने का अवसर प्राप्त हो सकता है। आपके लिए ये यात्रा ख़ासा लाभदायक साबित हो सकती है। पारिवारिक दृष्टिकोण से देखें तो भाई बहन के साथ आपके रिश्ते में मधुरता आ सकती है। गोचर की इस अवधि काल में आपको अपनी प्रतिभा को निखारने का विशेष अवसर प्राप्त होगा। धार्मिक कार्यों के प्रति आपकी रुचि बढ़ेगी और संभवतः आप किसी धार्मिक यात्रा पर भी जा सकते हैं। यदि आपकी रुचि कला क्षेत्र में है तो, कला से संबंधित क्रियाओं में आपको सफलता मिलने के पूरे योग हैं। शुक्र के गोचर की ये अवधि आपके लिए कोई शुभ समाचार लेकर आ सकती है। इस दौरान आप किसी नए रिश्ते में भी बंध सकते हैं। लिहाजा कुंभ राशि के जातकों के जीवन पर इस गोचर का सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेगा।

उपायः प्रतिदिन इत्र का प्रयोग करना आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा।

मीन राशि

इस गोचर के दौरान देव शुक्र आपकी राशि से दूसरे भाव में स्थापित होंगें। शुक्र का ये गोचर आपकी संवाद शैली में निखार लाएगा और आप अपनी वाणी से लोगों को आकर्षित करने में सक्षम रहेंगे। पारिवारिक दृष्टिकोण से भी ये गोचर आपके लिए ख़ासा फलदायी साबित होगा। परिवार में किसी मांगलिक समारोह का आयोजन इस दौरान संभव है। आर्थिक रूप से देखें तो शुक्र का गोचर आपके लिए धन प्राप्ति के बहुत से स्रोत बना सकता है। लिहाजा आपको किसी अनजान स्रोत से धन लाभ होने का योग है। पारिवारिक स्तर पर इस गोचर के दौरान आपको अपने भाई बहन से हर संभव सहायता मिल सकती है। विवाहित जातकों को उनके ससुराल पक्ष से विशेष लाभ मिल सकता है। साथ ही इस दौरान अपने जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ख़ास ख्याल रखें, इस दौरान उनके स्वास्थ्य में परिवर्तन हो सकता है। मीन राशि के जातकों के लिए शुक्र का गोचर विशेष रूप से लाभदायक साबित होने वाला है।

उपायः शुक्रवार के दिन ब्राह्मण को शुद्ध घी दान करें।


रत्न, यंत्र समेत समस्त ज्योतिषीय समाधान के लिए विजिट करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

2019 गोचर

मंगल का मकर में गोचर मंगल वृश्चिक में वक्री मंगल का वृश्चिक में गोचर मंगल का तुला राशि में गोचर मंगल का कन्या में गोचर मंगल का सिंह राशि में गोचर मंगल अस्त मेष राशि में मंगल का मेष में गोचर मंगल का मीन में गोचर मंगल का मिथुन में गोचर मंगल का वृषभ में गोचर मंगल का वृषभ में गोचर मंगल का गोचर कुम्भ राशि में शनि वृश्चिक में अस्त शनि वक्री वृश्चिक में वृश्चिक राशि में शनि उदय सूर्य का तुला राशि में गोचर सूर्य का मीन में गोचर सूर्य का कुम्भ में गोचर सूर्य का मकर में गोचर सूर्य का धनु राशि में गोचर सूर्य का वृश्चिक राशि में गोचर सूर्य का कन्या राशि में गोचर सूर्य का सिंह राशि में गोचर सूर्य का कर्क में गोचर सूर्य का मिथुन में गोचर सूर्य का वृषभ में गोचर सूर्य का मेष में गोचर सूर्य का वृषभ में गोचर सूर्य का मिथुन में गोचर
धनु राशि में शुक्र का गोचर शुक्र का वृश्चिक में गोचर शुक्र का कन्या में गोचर शुक्र कर्क में मार्गी शुक्र का मीन में गोचर शुक्र का कुम्भ में गोचर शुक्र का मकर में गोचर शुक्र मेष में अस्त शुक्र का वृश्चिक में गोचर शुक्र का तुला में गोचर मंगल का कर्क में गोचर अस्त शुक्र का कर्क में गोचर शुक्र सिंह राशि में वक्री शुक्र का वृषभ में गोचर शुक्र का मेष में गोचर शुक्र का सिंह में गोचर शुक्र का मिथुन में गोचर शुक्र का कर्क में गोचर शुक्र का मिथुन में गोचर शुक्र का वृषभ में गोचर शुक्र का वृश्चिक में गोचर वृश्चिक राशि में शुक्र उदय गुरु कन्या राशि में वक्री गुरु का सिंह में गोचर गुरु सिंह राशि में अस्त गुरु कर्क राशि में मार्गी कर्क राशि में बृहस्पति वक्री गुरु कर्क राशि में मार्गी शनि धनु राशि में वक्री

Buy Your Big Horoscope

100+ pages @ Rs. 650/-

Big horoscope

AstroSage on MobileAll Mobile Apps

AstroSage TVSubscribe

Buy Gemstones

Best quality gemstones with assurance of AstroSage.com

Buy Yantras

Take advantage of Yantra with assurance of AstroSage.com

Buy Feng Shui

Bring Good Luck to your Place with Feng Shui.from AstroSage.com

Buy Rudraksh

Best quality Rudraksh with assurance of AstroSage.com

Reports